33 C
Mumbai
Monday, November 28, 2022

आपका भरोसा ही, हमारी विश्वसनीयता !

‘कैमिकेज ड्रोन’ यूक्रेन के लिए चिंता का सबब बने, यह जापानी तरीका रूस के बेहद खतरनाक है

यूक्रेन की राजधानी कीव पर रूस ने सोमवार सुबह भी कैमिकेज ड्रोन से हमला किया। इस हमले में कई रिहाइशी इमारतों को भी नुकसान पहुंचा है। हालांकि किसी के हताहत होने की सूचना नहीं मिली है। एक सप्ताह के अंदर भी दूसरी बार है जब रूस ने कैमिकेज ड्रोन से यूक्रेन को चोट पहुंचाने की कोशिश की है। आइए जानते हैं कि आखिर यह कैमिकेज तकनीक क्या है जिसके जरिए रूस यूक्रेन का ज्यादा से ज्यादा नुकसान करने की कोशिश कर रहा है। 

दूसरे विश्वयुद्ध में जापान ने किया था इस्तेमाल
कैमकेज का इस्तेमाल दूसरे विश्वयुद्ध के समय जापान ने किया था। लड़ाकू विमानों में भारी मात्रा में गोला-बारूद लादकर पायल टारगेट को हिट करता था। यह आत्मघाती हमला था। हमला वहीं किया जाता था जहां दुश्मन का ज्यादा से ज्यादा नुकसान हो। उसी तरह अब ड्रोन का इस्तेमाल किया जा रहा है जिसमें कोई पायलट नहीं होता। ड्रोन तब तक मंडराता रहता है जब तक वह टारगेट को लोकेट नहीं कर लेता। 

क्या है कैमिकेज ड्रोन की खासियत
कैमिकेज ड्रोन की खासियत है कि यह मिसाइल से लैस होता है और काफी समय तक आसमान में ही रहकर टारगेट का इंतजार कर सकता है। इसके बाद सटीक टारगेट मिलने के बाद ही हमला करता है। यह आकार में काफी  छोटा होता है जिससे की आसानी से चोरी-छिपे टारगेट तक पहुंच जाता है। इसको लॉन्च करना भी बेहद आसान होता है। टारगेट को अटैक करने के बाद ये ड्रोन खुद नष्ट हो जाते हैं। 

ईरान के ड्रोन इस्तेमाल कर रहा रूस?
यूक्रेन का कहना है कि रूस ईराने के शाहेद ड्रोन का इस्तेमाल कर रहा है. रूस ने खुद इन्हें अपग्रेड किया है। ये ड्रोन बहुत तेजी से उड़ान नहीं भरते हैं बल्कि धीरे-धीरे चलते हैं। लेकिन एयर डिफेंस सिस्टम इनको पकड़ नहीं पाता। टारगेट पर पहुंचने से पहले भी अगर इनको नष्ट किया जाता है तब भी ये नुकसान पहुंचा सकते हैं। अगस्त के आखिरी में ईरान से रूस को ऐसे 1 हजार ड्रोन मिले हैं। रूस का मानना है कि यूक्रेन के एंटी एयरक्राफ्ट सिस्टम को नष्ट करने के लिए इन ड्रोन का इस्तेमाल किया जा सकता है। 

इन ड्रोन की खासियत है कि ये हजारों किलोमीटर तक उड़कर पहुंच सकते हैं और फिर घंटों आसमान में ही  इंतजार  कर सकते हैं। यूक्रेन इन ड्रोन से बचने के लिए इजरायल की मदद ले सकता है क्योंकि इजरायल पहले से भी इन ईरानी ड्रोन का सामना करता रहा है और उन्हें नष्ट करता रहा है। यूक्रेन के राष्ट्रपति जेलेंस्की ने कहा कि कैमिकेज ड्रोन और मिसाइल हमले कि वजह से लोग दिन रात डरे रहते हैं। दुश्मन हमारे शहरों पर हमला कर सकता है लेकिन हमें तोड़ नहीं सकता। 

Latest news

ना ही पक्ष ना ही विपक्ष, जनता के सवाल सबके समक्ष

Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here