31 C
Mumbai
Thursday, December 1, 2022

आपका भरोसा ही, हमारी विश्वसनीयता !

बड़ा खतरा दुनिया के लिए, 23 टन वजनी चीनी रॉकेट पृथ्वी पर वापस गिर रहा

अपना अंतरिक्ष स्टेशन बना रहे चीन को एक और तगड़ा झटका लगा है। चीनी अंतरिक्ष एजेंसी की ओर से भेजा गया 23 टन वजनी रॉकेट लॉन्च होने के बाद फेल गया है और वो वापस पृथ्वी की ओर गिर रहा है। यह रॉकेट मेंगटियन मॉड्यूल को लेकर अंतरिक्ष स्टेशन के लिए उड़ान भरा था। रिपोर्ट में बताया गया है कि चीनी वैज्ञानिक रॉकेट को ऑर्बिट में स्थापित नहीं कर पाए जिसके बाद यह भारी-भरकम रॉकेट पृथ्वी की ओर गिर रहा है। पिछले हफ्ते इस रॉकेट को लॉन्च किया गया था।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, चीन मानवयुक्त अंतरिक्ष एजेंसी (CSMA) ने मेंगटियन मॉड्यूल के साथ लॉन्ग मार्ट 5B रॉकेट को तियांगोंग अंतरिक्ष स्टेशन के लिए लॉन्च किया था। इस रॉकेट के वायुमंडल में क्रैश होने और जलने की उम्मीद है लेकिन, इसके कुछ टुकड़े जमीन पर गिर सकते हैं। स्पेस डॉट कॉम ने एयरोस्पेस कॉरपोरेशन के कॉरपोरेट चीफ इंजीनियर ऑफिस के सलाहकार टेड मुएलहौप्ट के हवाले से कहा है कि चीन के अंतरिक्ष मलबे की वजह से पूरी दुनिया को खतरा है। विश्व की करीब 88 फीसदी आबादी जोखिम में है।

साल की शुरुआत में अनियंत्रित हो गया था चीनी रॉकेट

इस साल की शुरुआत में भी चीन का एक रॉकेट अनियंत्रित हो गया था और पृथ्वी के वायुमंडल में प्रवेश कर गया था। यह अंतरिक्ष स्टेशन के लिए भेजा गया दूसरा रॉकेट था। लॉन्चिंग के छह दिन बाद ही उसने कंट्रोल खो दिया था। रॉकेट पर से कंट्रोल खोने के बाद चीन ने किसी को भी इसकी जानकारी नहीं दी थी। राहत की बात रही कि रॉकेट का हिस्सा हिंद महासागर में जा गिरा था।

मलेशिया और इंडोनेशिया में गिरे थे रॉकेट के पार्ट

रॉकेट का अधिकांश हिस्सा जल गया था। उसके बूस्टर और लॉन्चर के कुछ हिस्से मलेशिया और इंडोनेशिया सहित दक्षिक्ष पूर्व एशिया के कुछ क्षेत्रों में गिरे हुए पाए गए थे। हालांकि, इस रॉकेट की वजह से धरती पर किसी जान-माल का खतरा नहीं हुआ था। चीन पर पहले भी फेल हो चुके रॉकेटों के संबंध में जानकारी नहीं देने का आरोप लग चुका है।

Latest news

ना ही पक्ष ना ही विपक्ष, जनता के सवाल सबके समक्ष

Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here