33 C
Mumbai
Monday, November 28, 2022

आपका भरोसा ही, हमारी विश्वसनीयता !

चीनी नागरिक पाकिस्तान में सुरक्षित नहीं, घूमेंगे अब बुलेट प्रूफ कारों में

चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारे (सीपीईसी) परियोजनाओं पर काम कर रहे चीनी नागरिकों की सुरक्षा को लेकर बढ़ती चिंताओं के बीच, पाकिस्तान और चीन चीनी श्रमिकों के आने-जाने के लिए बुलेट प्रूफ वाहनों के इस्तेमाल पर सहमत हुए। CPEC की 11वीं संयुक्त सहयोग समिति (JCC) के ड्राफ्ट मिनट्स में कहा गया है, “यह तय किया गया है कि परियोजनाओं पर काम करने वाले सभी चीनी नागरिकों के बाहर जाने के समय बुलेट प्रूफ गाड़ियों का इस्तेमाल किया जाएगा।”

मालूम हो कि पाकिस्तान और चीन ने इस सप्ताह की शुरुआत में प्रधान मंत्री शहबाज शरीफ की दो दिवसीय बीजिंग यात्रा के दौरान 11वें जेसीसी मिनट्स पर हस्ताक्षर नहीं किए थे, जबकि पहले जेसीसी के तुरंत बाद मिनट्स पर हस्ताक्षर किए गए थे। ‘द एक्सप्रेस ट्रिब्यून’ की रिपोर्ट के अनुसार, योजना मंत्री अहसान इकबाल ने बैठक के बाद कहा था कि प्रधानमंत्री की यात्रा के दौरान मिनटों पर हस्ताक्षर किए जाएंगे।

मंत्री ने कहा, “केवल 24 घंटों की बहुत छोटी यात्रा के कारण जेसीसी के मिनटों सहित कुछ समझौता ज्ञापनों पर हस्ताक्षर नहीं किए जा सके।” उन्होंने कहा, “24 घंटे की अवधि में लगभग 17 बैठकें हुईं, जिसमें कुछ अन्य महत्वपूर्ण कार्यक्रमों के लिए समय नहीं बचा।” उन्होंने कहा कि या तो एक प्रतिनिधिमंडल जल्द ही चीन जाएगा या उन पर वर्चुअली हस्ताक्षर किए जाएंगे। द एक्सप्रेस ट्रिब्यून की रिपोर्ट के अनुसार, दोनों पक्ष कानून-प्रवर्तन एजेंसियों और जांचकर्ताओं की क्षमताओं को मजबूत करने पर भी सहमत हुए हैं।

चीनी नागरिकों से जुड़े अपराधों की जांच में तेजी लाने के लिए, यह निर्णय लिया गया था कि राष्ट्रीय फोरेंसिक विज्ञान एजेंसी (एनएफएसए) को आधुनिक तर्ज पर बनाया जाएगा। पाकिस्तानी पक्ष ने इस्लामाबाद में राष्ट्रीय फोरेंसिक विज्ञान प्रयोगशाला के पूर्ण उन्नयन के लिए चीनी समर्थन का अनुरोध किया। ‘द एक्सप्रेस ट्रिब्यून’ की रिपोर्ट के अनुसार, ड्राफ्ट मिनट्स के अनुसार, चीनी पक्ष ने इस उद्देश्य के लिए अपने पूर्ण समर्थन का आश्वासन दिया।

Latest news

ना ही पक्ष ना ही विपक्ष, जनता के सवाल सबके समक्ष

Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here