22 C
Mumbai
Wednesday, November 30, 2022

आपका भरोसा ही, हमारी विश्वसनीयता !

Meta की छंटनी ने ढाया कहर, चली गई नौकरी ज्वाइनिंग के दो दिन बाद ही; भावुक पोस्ट लिखा

पिछले कुछ दिनों में फेसबुक की पेरेंट कंपनी मेटा और ट्विटर में बड़े पैमाने पर कर्मचारियों की छंटनी की गई है। दोनों कंपनियों में छटनी की वजह से कई भारतीयों को भी अपनी नौकरी से हाथ धोना पड़ा है। मार्क जुकरबर्ग के नेतृत्व वाली कंपनी मेटा ने तो एक झटके में ही 11000 से अधिक कर्मचारियों को निकालने का फरमान जारी कर दिया। मेटा में जिन कर्मचारियों की छंटनी की गई है उनमें एक भारतीय युवा हिमांशु वी भी शामिल हैं। हिमांशु पर दुखों का पहाड़ इस कदर टूटा है कि उनकी ज्वाइनिंग के ठीक दो दिन बाद ही उनको नौकरी से हटा दिया गया है।

नौकरी से निकाले जाने के बाद हिमांशु ने लिंक्डइन पर अपना दुखा साझा किया है और बताया कि उनके साथ जो हुआ उससे वो क्यों हैरान और परेशान हैं। हिमांशु ने बताया है कि वो मेटा को ज्वाइन करने के लिए कनाडा गए और ऑफिस ज्वाइन किया, लेकिन ठीक दो दिन बाद ही मेटा के साथ उनकी यात्रा समाप्त हो गई क्योंकि वो बड़े पैमाने पर छंटनी का शिकार हो गए।

हिमांशु ने आगे लिखा, ‘मैं उन सभी लोगों के साथ हूं जो अभी एक कठिन परिस्थितियों का सामना कर रहे हैं। अब मेरा क्या होगा? ईमानदारी से कहूं, तो मेरे पास कोई आइडिया नहीं हैं। अब आगे क्या होगा उसका मैं इंतजार कर रहा हूं। अगर आपको कनाडा या भारत में सॉफ्टवेयर इंजीनियर के लिए किसी हायरिंग या पोस्ट के बारे में मिलती है तो कृपया मुझे बताएं।’ हिमांशु का यह भावुक पोस्ट अब सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। हिमांशु इकलौत ऐसे नहीं जो मेटा और ट्विटर की छंटनी का शिकार हुए हैं।

मेटा में 13 फीसदी कर्मचारियों की छटनी

फेसबुक की मूल कंपनी मेटा ने अपने 13 प्रतिशत या लगभग 11000 कर्मचारियों की छंटनी की है। कंपनी के सीईओ मार्क जुकरबर्ग ने बुधवार को कर्मचारियों को लिखे पत्र में कहा कि कमाई में गिरावट और प्रौद्योगिकी उद्योग में जारी संकट के चलते यह फैसला करना पड़ा। छंटनी के बारे में जुकरबर्ग ने बयान में कहा, ‘दुर्भाग्य से, यह मेरी अपेक्षा के अनुरूप नहीं हैं।’

ट्विटर ने भी बड़े पैमाने पर कर्मचारियों को किया है बाहर

इससे पहले अरबपति कारोबारी एलन मस्क ने ट्विटर का अधिग्रहण करने के बाद वहां बड़े पैमाने पर कर्मचारियों को बाहर का रास्ता दिखाया था। पिछले सप्ताह ट्विटर ने अपने 7500 कर्मचारियों में से लगभग 50 प्रतिशत को बाहर कर दिया था। मस्क ने संकेत दिया है कि आगे चलकर ट्विटर में और भी कई बड़े बदलाव देखने को मिल सकते हैं।

Latest news

ना ही पक्ष ना ही विपक्ष, जनता के सवाल सबके समक्ष

Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here