22 C
Mumbai
Friday, January 27, 2023

आपका भरोसा ही, हमारी विश्वसनीयता !

100 से ज्यादा पुलिस स्टेशन चीन ने दुनियाभर में खोल दिए, यह जिम्मेदारी एजेंट्स को दी गई

चीन की नई चालबाजी का खुलासा हुआ है, जिससे दुनियाभर में हड़कंप मच सकता है। दरअसल, एक रिपोर्ट में दावा किया गया है कि चीन ने शातिर तरीके से कई देशों में 100 से अधिक पुलिस स्टेशन खोल दिए हैं। लेकिन चीन की इस शातिर चाल की किसी को भनक तक नहीं लगी।

मीडिया रिपोर्ट में कहा गया है कि चीन इन पुलिस थानों के जरिए विदेश में रहने वाले अपने नागरिकों की निगरानी करना चाहता है। इसके अलावा इन थानों को दूसरे देशों में रहने वाले चीनी नागरिकों को परेशान करने और उन्हें वापस लाने की काम सौंपा गया है। रिपोर्ट के मुताबिक, मैड्रिड स्थित मानवाधिकार संस्था सेफगार्ड डिफेंडर्स (Safeguard Defenders) ने सितंबर 2022 में चीन के पुलिस थानों को लेकर खुलासा किया था।

रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि चीन ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपनी उपस्थिति के लिए यूरोप और अफ्रीका के कुछ देशों के साथ द्विपक्षीय सुरक्षा व्यवस्था के लिए समझौते भी किए हैं। साथ ही चीन और यूरोप के कुछ देशों के बीच संयुक्त पुलिस पहल ने ड्रैगन को विदेश में थानों को स्थापित करने में मदद की है। रिपोर्ट के मुताबिक, इटली, सर्बिया, क्रोएशिया और रोमानिया में भी चीन ने पुलिस थाने बनाए हैं। रिपोर्ट में दावा किया गया है कि फ्रांस की राजधानी पेरिस में गुप्त तरीके से काम कर रहे एजेंट्स ने एक चीनी नागरिक को वापस लौटने  के लिए मजबूर किया था। सर्बिया और स्पेन से भी दो चीनी निर्वासितों के साथ भी ऐसा किया गया।

53 देशों में सक्रिय हैं चीन के पुलिस थाने
मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक सेफगार्ड डिफेंडर्स ने 53 देशों में सक्रिय चीन के सार्वजनिक सुरक्षा मंत्रालय के चार अलग-अलग पुलिस थानों की पहचान की है। सेफगार्ड डिफेंडर्स की रिपोर्ट के मुताबिक, वैश्विक कोविड महामारी से पहले ही चीन ने कुछ देशों में ऐसे सेंटर शुरू कर दिए थे। चीन के पुलिस नेटवर्क ने 21 स्टेशनों के लिए 135 एजेंट्स बनाए थे। वहीं, चीन के इन पुलिस थानों का खुलास होने के बाद 13 देशों में जांच शुरू की गई है। साथ ही इससे चीन का कनाडा जैसे देशों से तनाव भी बढ़ सकता है।

चीन ने पेश की सफाई
हालांकि, चीन ने दूसरे देशों में पुलिस स्टेशन संचालित किए जाने की रिपोर्ट को खारिज कर दिया है। उसने कहा है कि चीन को बदनाम करने के लिए इस तरह के हथकंडों का सहारा लिया जा रहा है, जो अस्वीकार्य है। हम आशा करते हैं कि ऐसी खबरों को संबंधित पक्ष बढ़ा-चढ़ाकर पेश करना बंद करेंगे। चीन ने यह भी कहा कि ये सेंटर कोविड-19 महामारी के बाद दूसरे देशों में फंसे नागरिकों की मदद के लिए खोले गए थे। चीन के मुताबिक, ये सेंटर्स वॉलेंटियर्स द्वारा संचालित किए जाते हैं।

Latest news

ना ही पक्ष ना ही विपक्ष, जनता के सवाल सबके समक्ष

Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here