28 C
Mumbai
Friday, February 3, 2023

आपका भरोसा ही, हमारी विश्वसनीयता !

अदला-बदली हुई बंदियों की, बास्केटबाल स्टार ब्रिटनी को हथियार व्यापारी के बदले रूस ने छोड़ा

अमेरिका और रूस के बीच रिश्ते किस कदर खराब हैं, यह दुनिया से छिपा नहीं है। यूक्रेन युद्ध शुरू होने के बाद स्थिति और भी चिंताजनक हो गई है। हालांकि, अब इन दो महाशक्तियों के बीच से राहत की खबर सामने आई है। पता चला है कि दोनों देशों के बीच पर्दे के पीछे बातचीत जारी है। 

दरअसल, दोनों देशों ने हाल ही में बंदियों की अदला-बदली की है। जानकारी के मुताबिक, अमेरिका की बास्केटबाल स्टार ब्रिटनी ग्राइनर को रूस ने रिहा किया है तो इसके बदले रूस के हथियार व्यापारी विक्टर बाउट को भी अमेरिका ने छोड़ दिया है। इस बीच रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन का कहना है कि ग्रिनर-बाउट की अदला-बदली के बाद और अधिक अमेरिकी-रूसी कैदियों की अदला-बदली संभव है।

आठ महीने से रूस में बंद थीं ब्रिटनी 
अमेरिकी की स्टार खिलाड़ी और दो बार ओलंपिक स्वर्ण पदक विजेता ब्रिटनी ग्राइनर आठ महीने से रूस की जेल में बंद थीं। उनकी गिरफ्तारी रूस में नशीला पदार्थ ले जाने के आरेप में हुई थी। हालांकि, अमेरिका का कहना है कि रूस में जिसे नशीला पदार्श माना जाता है, उस पर अमेरिका समेत कई देशों पर प्रतिबंध नहीं है। 

अमेरिका ने छोड़ा मौत का सौदागर 
उधर, ब्रिटनी के बदले अमेरिका ने रूस के हथियार व्यापारी बाउट को रिहा किया है। दुनिया के कई अशांत क्षेत्रों में हथियारों की आपूर्ति के लिए उन्हें एक समय मौत का सौदागर भी कहा जाता था। रूसी विदेश मंत्रालय की ओर से इस अदला-बदली की पुष्ट भी की गई है। 

आबूधाबी में हुई अदला-बदली 
रूस और अमेरिका के बीच बंदियों की इस अदला-बदली की मध्यस्थता यूएई के राष्ट्रपति मुहम्मद बिन जाएद अल नाह्यान और सऊदी के क्राउन प्रिंस मुहम्मद बिन सलमान के प्रयासों से हुई। दोनों के रूस और अमेरिका से अच्छे संबंध हैं। बता दें, दोनों बंदियों को पहले आबूधाबी लाया गया, जिसके बाद उन्हें अपने-अपने देश भेजा गया। 

पॉल व्हेलन को रिहा नहीं करा पाया अमेरिका 
रूसी जेल में बंद पॉल व्हेलन की रिहाई की मांग भी अमेरिका में तेजी से उठ रही है। हालांकि, इस बार अमेरिका पॉल व्हेलन को रिहा करान में नाकामयाब रहा। हालांकि, अमेरिकी अमेरिका विदेश विभाग के प्रमुख एंटनी ब्लिंकन ने कहा है कि अमेरिका पॉल व्हेलन को अमेरिका वापस लाने के लिए प्रशासन प्रयास करना जारी रखेगा। बता दें, पॉल जासूसी के आरोप में 2018 से रूसी जेल में बंद हैं।

Latest news

ना ही पक्ष ना ही विपक्ष, जनता के सवाल सबके समक्ष

Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here