28 C
Mumbai
Sunday, July 14, 2024

आपका भरोसा ही, हमारी विश्वसनीयता !

इस्राइल बंधको की रिहाई तक बिजली-पानी, पेट्रोल के लिए गाजा को तरसने पर मजबूर कर देगा ; दी है ये चेतावनी

इस्राइल पर हमास के हमले के बाद शुरू हुई जंग अब भीषण रूप ले चुकी है। इस्राइल के पीएम ने जहां हमास को गाजा से नेस्तनाबूद करने की कसम खाई है वहीं, इसके लिए वे रणनीतिक तौर पर भी कदम उठा रहे हैं। इस्राइल ने अब गाजा को चारों ओर से घेर रखा है और लगातार हमले कर रहा है। चारों ओर से हुई नाते बंदी के कारण गाजा के हालात दिन पर दिन बिगड़ते जा रहे हैं। गाजा में आम नागरिकों के सामने बिजली और खाने का संकट खड़ा होने लगा है। वहीं, दूसरी ओर इस्राइल ने साफ कर दिया है कि जब तक हमास द्वारा बंधक बनाए गए उसके नागरिकों को छोड़ा नहीं जाएगा वह गाजा पर लगाए गए अपने प्रतिबंधों को जारी रखेगा। 

अल जजीरा की रिपोर्ट के अनुसार, इस्राइल के ऊर्जा मंत्री इस्राइल काट्ज ने चेतावनी दी है कि जब तक हमास बंदियों को रिहा नहीं करता, तब तक तेल अवीव गाजा में मानवीय सहायता या किसी भी आवश्यक संसाधन की अनुमति नहीं देगा। ऊर्जा मंत्री इस्राइल काट्ज ने आज कहा कि जब तक इजरायली अपहृतों की घर वापसी नहीं हो जाती है, तब तक बिजली का कोई स्विच चालू नहीं किया जाएगा, ना ही पानी का पंप खोला जाएगा। इसके साथ ही एक भी फ्यूल ट्रक गाजा बॉर्डर से प्रवेश नहीं करेगा। 

गौरतलब है कि हमास के आतंकियों ने पिछले शनिवार को जब इस्राइल पर हमला किया था तब उन्होंने सैकड़ों इस्राइलियों विदेशियों को बंधक बना लिया था। इसके बाज इस्राइल ने हमास पर जवाबी कार्रवाई की है। जिसके चलते इस्राइल ने गाजा पर कई प्रतिबंध भी लगा दिए हैं। 

अब तक 2600 से ज्यादा इस्राइली और फलस्तीनी मारे गए
इजराइल ने सात अक्तूबर को गाजा में सत्तारूढ़ इस्लामिक आतंकवादी समूह हमास के हमले के बाद संगठन के खिलाफ अभूतपूर्व जवाबी कार्रवाई करने का संकल्प लिया है। हमले के छठे दिन इस्राइली सेना ने बताया कि उनके देश में 189 सैनिकों सहित 1300 लोग मारे गए हैं, और 3000 लोग घायल हुए हैं। जबकि गाजा में इजराइल की जवाबी कार्रवाई में कम से कम 1350 लोग मारे गए हैं और पांच हजार से ज्यादा लोग घायल हुए हैं। 

हमास गाजा का ‘आईएसआईएस’ – योव गैलेंट 
इससे पहले, इस्राइल के रक्षामंत्री योव गैलेंट ने कहा कि हमास गाजा का ‘आईएसआईएस’ है। इसे ईरान द्वारा वित्त पोषित और समर्थित किया गया है। गाजा का ‘आईएसआईएस’ हमारी सीमाओं पर मौजूद नहीं होगा। आईडीएफ हमास को नष्ट कर देगा। हम अपने बच्चों के खून से सने हर आखिरी आदमी का शिकार करेंगे।

सात अक्तूबर को क्या हुआ था?
शनिवार (सात अक्तूबर) को गाजा पट्टी स्थित आतंकी समूह हमास ने इस्राइल पर पांच हजार रॉकेट दागे। साथ ही इस्राइल की सीमा में लगे फेंसिंग को तोड़ बंदूकधारी शहर में घुस गए। यहां हमास आतंकियों ने लोगों से खूनी बर्बरता की और महिलाओं और बच्चों को चुन-चुनकर मारा। 

एक ही दिन में इस्राइल में 700 नागरिकों की हत्या, सैकड़ों महिलाओं से दुष्कर्म, अपहरण, लूटपाट इससे पहले कभी नहीं हुआ था। आतंकियों ने गाजा से इस्राइल में सड़क, वायु और जल मार्गों से घुसपैठ की, सीमा की बाड़बंदी तोड़कर सैकड़ों आतंकी घुसे। यह बताता है कि आतंकियों ने कई महीनों की तैयारी के बाद हमले को अंजाम दिया। इसकी भनक तक इस्राइल और हमास के विरोधी मिस्र को न लगना आधुनिक सैन्य व खुफिया इतिहास की एक बहुत बड़ी अचंभित करने वाली घटना है।

Latest news

ना ही पक्ष ना ही विपक्ष, जनता के सवाल सबके समक्ष

spot_img
Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Translate »