26 C
Mumbai
Tuesday, July 16, 2024

आपका भरोसा ही, हमारी विश्वसनीयता !

महानायिका ‘श्रीदेवी’ का पार्थिव शरीर भारत लाने की मंजूरी मिली। मौत को लेकर संदेह बरकरार ! —— रवि निगम

नेचुरल डेथ या मर्डर, अनसुलझे सवाल, बोनी का बयान मजबूरी या कुछ और ?

दुबई में श्रीदेवी के निधन को लेकर असमंजस की स्थिति अभी भी कायम है , डॉक्टर भी संदेह के घेरे में है कि उसने जो मृत्यु का कारण बताया था वो क्या झूठा था या कोई गलती ? वहीं बोनी कपूर के बयान को लेकर भी सवाल उठ खड़े हुये हैं कि यदि कोई घटना घटित हुई थी तो सबसे पहले सूचना उन्होने होटल के स्टॉफ / प्रबन्धन को और पुलिस को न देते हुये, क्यों अपने नजदीकी दोस्त को पहले फोन पर सूचना दी।

बकौल बोनी कपूर जब श्रीदेवी 15 मिनट में बॉथरुम से बाहर नहीं आयीं तो उन्होने बाथरूम का दरवाजा तोड़ दिया जहाँ उन्होने श्रीदेवी को बॉथरूम टब में डूबा पाया, इसकी पहली खबर उन्होने अपने नजदीकी दोस्त को दी और उसके बाद डॉक्टर को बुलाया।

लेकिन यदि किसी दुर्घटना का अंदेसा उन्हे हुआ तो क्या होटल स्टॉफ की मदद लेना उचित नहीं समझा और स्वतः दरवाजा तोड दिया, और जब घटना घटित हो गई तो डॉक्टर को पहले फोन कर बुलाना उचित नहीं था ? ये अनसुलझे सवाल जवाब की तलाश में तो रहेंगे ही। दुबई पुलिस ने तीन बार बोनी कपूर से पूछतांछ की पुष्टि की है।

फिलहाल महानायिका का पार्थिव शरीर भारत लाने के लिये मंजूरी मिलने की खबर है, खबर के मुताबिक उनके पार्थिव शरीर पर लेप लगाने में कम से कम ढ़ेड़ घन्टे का समय लगेगा और उससे बाद हवाई सफर में लगने वाला समय, कुल मिलाकर उन्हे भारत लाने में सात से आठ घन्टे का समय लग सकता है।

Latest news

ना ही पक्ष ना ही विपक्ष, जनता के सवाल सबके समक्ष

spot_img
Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Translate »