29 C
Mumbai
Tuesday, June 25, 2024

आपका भरोसा ही, हमारी विश्वसनीयता !

अपराधों के खिलाफ प्रस्ताव हिंदू विरोधी घृणा, ब्रिटिश भारतीय राजनेता क्रुपेश हिरानी ने उठाई आवाज

ब्रिटेन में घृणा अपराध के खिलाफ आवाज उठाई जा रही है। ब्रिटिश-भारतीय सदस्य क्रुपेश हिरानी ने विधानसभा में इसी सप्ताह एक प्रस्ताव पेश किया। इसमें मेट्रोपॉलिटन पुलिस से हिंदू विरोधी घृणा की बढ़ती घटनाओं से निपटने में सख्ती की अपील की गई है। हिरानी के प्रस्ताव के अनुसार, हिंदू विरोधी घृणा अपराधों को धर्म के आधार पर होने वाले अपराध की श्रेणी में शामिल करने का आह्वान किया गया है।

क्रुपेश हिरानी ने “हिंदूफोबिया” के उदाहरणों को उजागर करने का प्रयास किया। उन्होंने लंदनवासियों को प्रभावित करने वाले मुद्दों से संबंधित सभा- ग्रेटर लंदन अथॉरिटी के मेयर के रूप में सभा को संबोधित किया। उनका प्रस्ताव गुरुवार को पेश किया गया। बता दें कि ब्रिटेन के गृह मंत्रालय के आंकड़ों से पता चलता है कि 2022-23 में हिंदुओं के खिलाफ 291 घृणा अपराध हुए, जो पिछले वर्ष की तुलना में अधिक है। पिछले साल 161 घृणा अपराध दर्ज किए गए थे।

घृणा अपराधों में चिंताजनक वृद्धि
सर्वसम्मति से पारित प्रस्ताव में क्रुपेश हिरानी ने मेट्रोपॉलिटन पुलिस से स्थानीय हिंदू समुदायों के साथ काम करने का आह्वान किया। उन्होंने लक्षित घृणा अपराधों की रिपोर्ट करने में हिंदुओं के बीच विश्वास को प्रोत्साहित करने की अपील की। हिरानी ने कहा, “हिंदूफोबिया के लिए लंदन और उसके बाहर बिल्कुल भी जगह नहीं है। दुख की बात है कि पिछले साल हमारे समुदाय में घृणा अपराधों में चिंताजनक वृद्धि हुई है।” 

मेट्रोपॉलिटन पुलिस को जवाबदेह ठहराने का समर्थन
उन्होंने कहा, हिंदू धार्मिक रूप से प्रेरित घृणा अपराध का सामना करने वाला दूसरा सबसे संवेदनशील समूह है, लेकिन यह पुलिस डेटा में नहीं देखा गया है। इससे पता चलता है कि पुलिस को सबसे पहले, इसे बेहतर तरीके से रिकॉर्ड करना चाहिए और दूसरा, इस पर बेहतर प्रतिक्रिया देनी चाहिए। हिरानी ने कहा, “वे खुश हैं कि लंदन असेंबली मेट्रोपॉलिटन पुलिस को जवाबदेह ठहराने का समर्थन करती है ताकि पुलिस हमारे समुदाय द्वारा उन पर विश्वास कायम कर सकें।”

हिंदू घृणा अपराधों की रिपोर्ट करने में आत्मविश्वास
हिरानी ने इंग्लैंड और वेल्स के अपराध सर्वेक्षण का हवाला दिया, जो दर्शाता है कि धार्मिक रूप से प्रेरित घृणा अपराध का शिकार होने वाला हिंदू दूसरा सबसे संवेदनशील धर्म है। उनके प्रस्ताव में लिखा है, “यह सभा हिंदू घृणा अपराधों की रिपोर्ट करने में आत्मविश्वास को प्रोत्साहित करने के लिए मेट्रोपॉलिटन पुलिस सेवा (एमपीएस) से स्थानीय हिंदू समुदायों के साथ काम करने का आह्वान करती है।”

Latest news

ना ही पक्ष ना ही विपक्ष, जनता के सवाल सबके समक्ष

spot_img
Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Translate »