30 C
Mumbai
Thursday, April 18, 2024

आपका भरोसा ही, हमारी विश्वसनीयता !

अमेरिकी संसद के लिए भारतीय मूल की क्रिस्टल कौल लड़ेंगी चुनाव, कश्मीर से है खास नाता; जानें उनके बारे में

भारतीय मूल की विदेश नीति और राष्ट्रीय सुरक्षा में विशेषज्ञता रखने वाली क्रिस्टल कौल अमेरिकी प्रतिनिधि सभा के लिए चुनाव लड़ेंगीं। भारत के कश्मीर से संबंध रखने वाली कौल वर्जीनिया के कांग्रेस जिले से अपनी दावेदारी पेश करेंगी। अगर क्रिस्टल कौल 2024 में होने वाला यह चुनाव जीत जाती हैं तो वे ऐसी दूसरी भारतीय-अमेरिकी महिला   होंगी। उनसे पहले भारतीय मूल की प्रमिला जयपाल अमेरिकी प्रतिनिधि सभा के लिए चुनी गई थीं। वहीं, प्रमिला जयपाल की बहन सुशीला जयपाल ने भी ओरेगॉन के तीसरे कांग्रेसनल जिले से कांग्रेस की दौड़ में अपनी किस्मत आजमाई है।

क्रिस्टल कौल ने अपने फैसले के बारे में बताते हुए कहा कि वर्जीनिया के 10वें कांग्रेसनल डिस्ट्रिक्ट के लिए चुनाव लड़ने का उनका फैसला डेमोक्रेटिक कांग्रेस सदस्य जेनिफर वेक्सटन के फैसले के बाद आया है। बता दें कि 2019 से निर्वाचन क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करते हुए दोबारा चुनाव न लड़ने के अपने फैसले की घोषणा की है। गौरतलब है कि वर्जीनिया का 10वां कांग्रेसनल डिस्ट्रिक्ट में वर्जीनिया के वे हिस्सें आते हैं, जहां भारतीय अमेरिकियों और दक्षिण एशियाई लोगों की संख्या सबसे अधिक है। इनमें लाउडाउन काउंटी, फेयरफैक्स काउंटी और प्रिंस विलियम्स काउंटी जैसे इलाके हैं। 

 कौन हैं क्रिस्टल कौल
 70 से अधिक देशों की यात्रा कर चुकी कौल का जन्म और पालन-पोषण लॉन्ग आइलैंड न्यूयॉर्क में हुआ था। उनके पिता भारत के कश्मीर के सफापोरा  के रहने वाले थे। वे 26 साल की उम्र में अमेरिका आए थे। उनकी मां दिल्ली की रहने वाली थीं। जब उनकी उम्र सात साल की थी तब वे अमेरिका चली गईं थीं।

क्रिस्टल कौल जब 17 वर्ष की थीं, तब वह कॉलेज की शिक्षा के लिए वाशिंगटन डीसी चली गईं। उन्होंने अमेरिकन यूनिवर्सिटी से बी ए, ब्राउन यूनिवर्सिटी और जॉन्स हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी (एसएआईएस) से एमए की पढ़ाई की। साथ ही ब्राउन यूनिवर्सिटी में राजनीति विज्ञान में पीएचडी की है। वे हिंदी, पंजाबी, दारी, उर्दू और अरबी समेत आठ भाषाओं में पारंगत हैं। उन्होंने राष्ट्रीय सुरक्षा में विशेषज्ञता हासिल की है।  

उन्होंने रक्षा विभाग में डिफेंस थ्रेट रिडक्शन एजेंसी के निदेशक (जीएस-15), अमेरिकी वायु सेना के रणनीतिक संचार निदेशक और जनरल डायनेमिक्स सूचना प्रौद्योगिकी के लिए नाटो के निदेशक के रूप में कार्य किया है।  

इन मुद्दों पर लड़ेंगी क्रिस्टल
क्रिस्टल ने अपने चुनाव लड़ने के फैसले का एलान करते हुए यह भी कहा कि शिक्षा, स्वास्थ्य और सार्वजनिक सुरक्षा तीन मुख्य मुद्दे हैं। इन पर वह अपने चुनाव अभियान पर फोकस करेंगी। इस दौरान राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दे पर भी उन्होंने कहा कि वह आतंकवाद से मुकाबले पर बहुत कड़ा रुख अपनाएंगी।

Latest news

ना ही पक्ष ना ही विपक्ष, जनता के सवाल सबके समक्ष

spot_img
Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Translate »