26 C
Mumbai
Friday, February 23, 2024

आपका भरोसा ही, हमारी विश्वसनीयता !

उपनिरीक्षक समेत तीन सिपाहियो पर विभिन्न धाराओ में केस दर्ज।——————चैतन्य।

धरना प्रदर्शन करते पूर्व विधायक

बाराबंकी – पूर्व, विधायक सुन्दरलाल दीक्षित के बेटे के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज होने पर आक्रोशित कार्यकर्ताओ व पूर्व विधायक के जारी अनशन व भारी विरोध प्रदर्शन के चलते पुलिस ने उपनिरीक्षक समेत तीन सिपाहियो पर गंभीर धाराओ में केस दर्ज कर कार्यवाही शुरू कर दी है बतादे कि हैदरगढ़ कोतवाली क्षेत्र के अंतर्गत एक भूमि विवाद के मामले सीओ कार्यालय में पूर्व विधायक के पुत्र व दरोगा के मध्य हुई कहासुनी के मामले में पुलिस द्वारा एक पक्षीय कार्यवाही करते हुए पूर्व विधायक के पुत्र के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने से आज मामले ने तूल पकड़ लिया।। उल्लेखनीय है कि भाजपा के वरिष्ठ नेता व पूर्व विधायक पंडित सुंदरलाल दीक्षित के पैतृक गांव दौलतपुर में यहां के निवासी सुखलाल व जागेश्वर के मध्य सहन की भूमि को लेकर कई दिनों से विवाद के चलते पुलिस ने एक पक्ष को पकड़कर कोतवाली ले आई थी।। आरोप है कि पुलिस द्वारा जागेश्वर को कोतवाली लाकर जमकर पीटा गया इस बात की भनक लगते ही विधायक पुत्र ने सी ओ से इसकी शिकायत करने उनके कार्यालय पहुंचे बताया जाता है कि सीओ ने जागेश्वर को पकड़कर लाने वाले दरोगा को भी अपने कार्यालय में बुला लिया और फिर दरोगा व विधायक पुत्र पंकज दीक्षित में आरोप-प्रत्यारोप कहासुनी व नोक-झोंक रूप में बदल गया हालांकि सीओ ने दोनों पक्षों को समझा-बुझाकर शांत किया तथा मामले की जांच कराकर न्यायोचित कार्यवाही का आश्वासन दिया।। आज दरोगा की तहरीर पर बिना जांच पड़ताल किए विधायक पुत्र पंकज दीक्षित आदि पर एकतरफा मुकदमा दर्ज करने की बात जैसे ही सामने आई वैसे ही पूर्व विधायक पंडित सुंदरलाल दीक्षित अपने तमाम समर्थकों के साथ कोतवाली परिसर में दरोगा के विरुद्ध मुकदमा दर्ज करने की मांग को लेकर धरने पर बैठ गए। उनकी मांग है कि जब बिना जांच के उनके पुत्र पर मुकदमा लिख लिया गया तो दरोगा के विरुद्ध मुकदमा दर्ज करना ही होगा। । उधर कल से आज तक इस मामले की गूंज जहां प्रदेश स्तर तक सोशल मीडिया के जरिए हो रही है वही पार्टी के सांसद व विधायक का यहां न आना भी चर्चा का विषय बना हुआ है।। इस संबंध में पीड़ित जागेश्वर रावत ने जहां कोतवाली पुलिस को तहरीर देकर कथित आरोपी दरोगा शीतला प्रसाद मिश्रा और उनके साथ हमराही 3 सिपाहियों के विरुद्ध मुकदमा पंजीकृत करने की मांग की है तहरीर के मुताबिक जागेश्वर रावत को गांव गई दरोगा व सिपाहियों की टीम ने दीवाल बनाने से रोक दिया तथा मारपीट कर जीप में लाद दिया और रास्ते में भी जीप में ही जमकर मारपीट की। तहरीर के अनुसार पुलिस की मार से जागेश्वर को नाक कान व सीने में चोटें आई. इसका इलाज स्थानीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र व जिला अस्पताल तक कराना पड़ा ।

 

Latest news

ना ही पक्ष ना ही विपक्ष, जनता के सवाल सबके समक्ष

spot_img
Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Translate »