34 C
Mumbai
Tuesday, April 16, 2024

आपका भरोसा ही, हमारी विश्वसनीयता !

‘ऐड से होने वाली कमाई गाजा-इस्राइली अस्पतालों को जाएगी’, यहूदी विरोधी पोस्ट पर रिएक्ट कर घिरे मस्क का एलान

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म- एक्स के मालिक एलन मस्क ने कहा है कि गाजा पट्टी और इस्राइल के अस्पतालों की मदद के लिए वह आर्थिक मदद करेंगे। उन्होंने कहा कि एक्स पर आने वाले एड से जो राजस्व अर्जित होगा, उसका इस्तेमाल युद्धग्रस्त गाजा और इस्राइल के अस्पतालों की मदद के लिए किया जाएगा। बता दें कि पिछले 47 दिनों से हमास और इस्राइल के बीच जारी हिंसक संघर्ष के कारण गाजा का सबसे बड़ा अस्पताल अल-शिफा बुरी तरह प्रभावित हुआ है। ईंधन और बाकी जरूरी मेडिकल चीजों के अभाव की खबरें भी सामने आ चुकी हैं।

मस्क ने एक्स कर लिखा कि वे विज्ञापन और अंशदान (Subscription) से होने वाली कमाई का पूरा हिस्सा गाजा के अस्पतालों को दान करेंगे। एक्स के मालिक मस्क ने बताया कि आर्थिक मदद की राशि रेड क्रॉस सोसाइटी / गाजा में क्रिसेंट (Crescent) के माध्यम से भेजी जाएगी। बता दें कि लगातार होने वाली बमबारी और इस्राइली प्रतिबंधों के कारण अस्पतालों में ऑक्सीजन, ईंधन जैसी आपात जरूरत की चीजों पर भी संकट पैदा हो गया है। इसी बीच मस्क की घोषणा चर्चा में आई है।

मस्क की घोषणा के बाद एक एक्स हैंडल पर सवाल किया कि आखिर वे कैसे सुनिश्चित करेंगे कि उनकी तरफ से भेजी जा रही आर्थिक मदद की राशि आतंकी संगठन हमास के हाथों में न जाए। वायरल न्यूज एनवाईसी (@ViralNewsNYC) की इस पोस्ट पर मस्क ने जवाब भी दिया। एक्स के मालिक ने कहा कि किसी भी बेहतर सुझाव का स्वागत किया जाएगा।

अरबपति एलन मस्क ने वायरल न्यूज एनवाईसी के पोस्ट पर रिप्लाई किया और लिखा कि एक्स आर्थिक मदद की राशि भेजने के बाद खर्चों पर नजर भी रखेगा। उन्होंने कहा कि रेड क्रॉस / क्रिसेंट फंड का कैसे इस्तेमाल कर रहे हैं? इस पर नजर रखी जाएगी। उन्होंने यह भी लिखा कि आर्थिक मदद करने के लिए किसी बी बेहतर सुझाव का स्वागत है।

मासूम लोगों की मदद पर मस्क का बयान
गाजा के मानवीय संकट के बीच धर्म, कुल और संप्रदाय को दरकिनार कर मदद करने की घोषणा करते हुए एलन मस्क ने कहा कि संकट के ऐसे समय में सभी लोगों को पीड़ित, निर्दोष और मासूम लोगों की मदद करनी चाहिए। बता दें कि भारत ने भी मानवीय संकट के दौरान मदद की खेप भेजी है।

एक्स पर विज्ञापन देने से बड़ी कंपनियों का इनकार, विवाद की जड़ ‘यहूदी विरोध’?
एलन मस्क की यह घोषणा इसलिए भी अहम है क्योंकि कुछ दिनों पहले नामचीन कंपनियों ने एक्स पर विज्ञापन देने से इनकार कर दिया था। इन कंपनियों में ओटीटी प्लेटफॉर्म समेत कई बड़े नाम शामिल हैं, जिनके दुनियाभर में करोड़ों सब्सक्राइबर हैं। दरअसल, कथिक तौर पर यहूदी विरोधी पोस्ट पर अपने जवाब के कारण कठघरे में आए मस्क ने ‘अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता’ की दलील दी थी। इसके साथ-साथ उन्होंने आलोचना करने वाली संस्था पर मुकदमे की चेतावनी भी दी थी।

अस्पतालों में मेडिकल सप्लाई की किल्लत
गौरतलब है कि पश्चिमी एशिया से आ रही मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक गाजा के सबसे बड़े अस्पताल अल शिफा सहित दूसरे अस्पतालों में भी मेडिकल सप्लाई की किल्लत की खबरें सामने आई हैं। हिंसक संघर्ष के कारण अस्पताल लगभग ठप हो चुके हैं। चिकित्सा इंतजाम बुरी तरह चरमराने के बीच इस्राइल का दावा है कि हमास ने अस्पतालों के भीतर सैन्य कमांड पोस्ट और लड़ाकों को छुपाया है। हालांकि, हमास और अस्पताल के कर्मचारियों ने इस्राइली पक्ष के दावों को सिरे से खारिज कर दिया है।

मस्क स्टारलिंक से भी मदद का एलान कर चुके हैं
बता दें कि एक्स के एड रेवेन्यू दान से पहले पिछले महीने, एलन मस्क ने घोषणा की थी कि उनकी एक और यूनिट- स्टारलिंक गाजा में मान्यता प्राप्त सहायता संगठनों को कनेक्टिविटी प्रदान करने का काम करेगा। मस्क ने स्टारलिंक वाली घोषणा इस्राइल की तरफ से लगाए गए प्रतिबंधों के कारण गाजा और आसपास के क्षेत्रों में संचार और इंटरनेट कनेक्शन बंद होने की खबरों के बाद की थी।

42 हजार उपग्रह भेजने की योजना
बता दें कि स्टारलिंक मस्क की अंतरिक्ष उड़ान कंपनी स्पेसएक्स के तहत संचालित होती है। सुदूर जगहों पर कम लागत में इंटरनेट सेवाएं प्रदान करने वाला उपग्रह नेटवर्क स्टारलिंक का जीवनकाल लगभग पांच वर्ष होता है। मस्क को अपनी महत्वाकांक्षी अंतरिक्ष परियोजना- स्पेसएक्स के तहत विशाल तारामंडल (mega constellation) में कुल 42,000 उपग्रह भेजने की उम्मीद है।

Latest news

ना ही पक्ष ना ही विपक्ष, जनता के सवाल सबके समक्ष

spot_img
Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Translate »