29 C
Mumbai
Thursday, April 18, 2024

आपका भरोसा ही, हमारी विश्वसनीयता !

पूर्व विदेश मंत्री ने भारतीय सैनिकों को लेकर राष्ट्रपति मुइज्जू के दावों को बताया झूठ, कही बड़ी बात

मालदीव के पूर्व विदेश मंत्री अब्दुल्ला शाहिद ने शनिवार को राष्ट्रपति मोहम्मद मुइज्जू पर निशाना साधा और कहा कि उन्होंने भारतीय सैनिकों को लेकर जो दावा किया था, वह उनके झूठ की कड़ी में एक नया झूठ था। पूर्व विदेश मंत्री ने दावा किया कि मालदीव में कोई हथियारबंद भारतीय सैनिक तैनात नहीं है। 

साथ ही, मुख्य विपक्षी मालदीवियन डेमोक्रेटिक पार्टी (एमडीपी) के नए नेता अब्दुल्ला शाहिद ने भारत के साथ मालदीव के संबंधों का बचाव किया है। उन्होंने कहा कि विदेश नीति की परवाह किए बिना भारत के साथ संबंधों को खराब करना असंभव है। उन्होंने कहा कि भारत ऐतिहासिक और सांस्कृतिक और कई अन्य तरीकों से हमसे जुड़ा हुआ है। 

अब्दुल्ला शाहिद ने मुइज्जू पर लगाया झूठ बोलने का आरोप
अब्दुल्ला शाहिद ने सोशल मीडिया पर साझा पोस्ट में लिखा कि ‘100 दिन हो गए हैं और ये साफ है कि राष्ट्रपति मुइज्जू का दावा कि हजारों हथियारबंद सैनिक यहां तैनात हैं, सिर्फ उनके झूठ की कड़ी में नया झूठ था। मौजूदा सरकार ने कोई संख्या नहीं बताई है। देश में कोई भी हथियारबंद सैनिक तैनात नहीं है।’ उन्होंने लिखा कि ‘पारदर्शिता अहम है और सच्चाई सभी के सामने आनी चाहिए।’ गौरतलब है कि मालदीव में करीब 70 भारतीय सैनिक तैनात हैं। साथ ही एक डॉर्नियर 228 मेरीटाइम पेट्रोल एयरक्राफ्ट और दो एचएएल ध्रुव हेलीकॉप्टर भी मालदीव में मौजूद हैं। राष्ट्रपति मुइज्जू ने राष्ट्रपति चुनाव के दौरान ही मालदीव में मौजूद भारतीय सैनिकों के खिलाफ अभियान छेड़ रखा है और उन्होंने भारतीय सैनिकों की वापसी का वादा किया था। 

लक्षद्वीप विवाद से दोनों देशों में बढ़ा तनाव
राष्ट्रपति चुनाव जीतने के बाद ही मुइज्जू ने भारतीय सैनिकों की वापसी का एलान कर दिया था। फिलहाल दोनों देश इसे लेकर बातचीत कर रहे हैं। ऐसा बताया जा रहा है कि भारतीय सैनिकों और एक एयरक्राफ्ट 10 मार्च 2024 तक भारत लौट सकते हैं। वहीं दो अन्य एयरक्राफ्ट 10 मई 2024 तक मालदीव से भारत लौट सकते हैं। बता दें कि मालदीव की मौजूदा सरकार का झुकाव चीन की तरफ ज्यादा है। यही वजह है कि राष्ट्रपति बनने के बाद मुइज्जू चीन का दौरा कर चुके हैं, लेकिन अभी तक वे भारत नहीं आए हैं। बीते दिनों लक्षद्वीप को लेकर हुए विवाद के चलते भी दोनों देशों के बीच तनाव बढ़ गया था। इस विवाद के चलते मुइज्जू अपने ही देश में घिर गए थे। 

Latest news

ना ही पक्ष ना ही विपक्ष, जनता के सवाल सबके समक्ष

spot_img
Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Translate »