26 C
Mumbai
Friday, February 23, 2024

आपका भरोसा ही, हमारी विश्वसनीयता !

बांग्लादेश में बढ़ा तनाव रैली में हिंसा के बाद, तीन की मौत; विपक्षी पार्टी के शीर्ष नेता गिरफ्तार

बांग्लादेश में रविवार को राष्ट्रव्यापी आम हड़ताल के दौरान मुख्य विपक्षी बीएनपी और सत्तारूढ़ अवामी लीग के समर्थकों के बीच झड़प में तीन लोगों की मौत हो गई। मौजूदा हालात से जनवरी में होने वाले आम चुनाव से पहले बांग्लादेश में तनाव बढ़ गया है।

इस बीच बांग्लादेश पुलिस ने रविवार को मुख्य विपक्षी पार्टी बीएनपी (बांग्लादेश नेशनलिस्ट पार्टी) के एक वरिष्ठ नेता को गिरफ्तार किया है। दरअसल यह गिरफ्तारी बीएनपी की रैली में भड़की हिंसा के एक दिन बाद हुई है, जिसमें दो लोगों की मौत हो गई थी। बता दें कि बांग्लादेश में अगले साल जनवरी में आम चुनाव होने हैं। आम चुनाव से पहले रैली में हुई हिंसा से देश में तनाव का माहौल है। 

अब तक चार लोगों की गई जान
पुलिस के मुताबिक, ढाका के मोहम्मदपुर इलाके में एक निर्माणाधीन इमारत से गिरकर बीएनपी के एक कार्यकर्ता की मौत हो गई। वह एक बस में आग लगाने के बाद भागने की कोशिश कर रहा था। हालांकि, बीएनपी नेताओं ने दावा किया कि मृतक रैली के बाद घर लौट रहा था, जब प्रतिद्वंद्वी अवामी लीग के कार्यकर्ता उसे इमारत में ले गए और उसे फेंक दिया गया। 

पुलिस ने कहा कि उत्तर-पश्चिमी लालमोनिरहाट जिले में प्रतिद्वंद्वी दलों के प्रदर्शन के दौरान झड़प में अवामी लीग का एक कार्यकर्ता मारा गया। शहर के बाहरी इलाके डेमरा इलाके में अज्ञात बदमाशों ने एक बस में आग लगा दी, जिससे एक बस चालक के सहायक की मौत हो गई और एक अन्य घायल हो गया। इससे पहले शनिवार को ढाका के ककरैल इलाके में पुलिस और विपक्षी कार्यकर्ताओं के बीच झड़प के दौरान घायल हुए पत्रकार रफीक भुइयां की रविवार को मौत हो गई।

बीएनपी महासचिव गिरफ्तार
खबर के अनुसार, बांग्लादेश पुलिस ने बीएनपी के महासचिव मिर्जा फखरुल इस्लाम आलमगीर को गिरफ्तार किया है। यह गिरफ्तारी आलमगीर के ढाका स्थित घर से हुई। बीएनपी ने शनिवार को ढाका में सरकार विरोधी रैली का आयोजन किया था। इस दौरान हिंसा भड़क गई, जिसमें एक पुलिसकर्मी और बीएनपी के एक कार्यकर्ता की मौत हो गई। हिंसा में 200 से ज्यादा लोग घायल हुए हैं। घायलों में सुरक्षाकर्मी भी शामिल हैं। 

बांग्लादेश में चढ़ा राजनीतिक पारा
बांग्लादेश की पूर्व पीएम खालिदा जिया के नेतृत्व वाली बीएनपी ने राजधानी ढाका में शनिवार को एक रैली आयोजित की। इस रैली में बीएनपी ने मांग की कि देश में निष्पक्ष चुनाव के लिए शेख हसीना पीएम पद से इस्तीफा दें। बीएनपी की रैली के जवाब में पीएम शेख हसीना की पार्टी अवामी लीग ने भी शांतिपूर्ण रैली का आयोजन किया। बीएनपी की रैली में हिंसा भड़क गई। बीएनपी का आरोप है कि पुलिस ने जबरदस्ती कर उनकी रैली को खत्म करने की कोशिश की। 

हिंसा के बाद बांग्लादेश में तनाव का माहौल है और पुलिस बीएनपी नेतृत्व के खिलाफ कार्रवाई कर रही है। कई नेताओं को गिरफ्तार किया गया है। वहीं अवामी लीग ने हिंसा के जवाब में देशभर में शांतिपूर्ण रैलियां निकालने का एलान किया है। ढाका में कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए बड़े पैमाने पर सुरक्षाकर्मियों की तैनाती की गई है।

Latest news

ना ही पक्ष ना ही विपक्ष, जनता के सवाल सबके समक्ष

spot_img
Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Translate »