34 C
Mumbai
Tuesday, April 16, 2024

आपका भरोसा ही, हमारी विश्वसनीयता !

हमास के चार कमांडर इस्राइली सेना के हमले में ढेर; उत्तरी गाजा ब्रिगेड कमांडर अहमद अल घनडॉर का भी खात्मा

पश्चिमी एशिया में हिंसक संघर्ष जारी है। हमास के आतंकी ठिकानों के निशाना बना रही इस्राइली सेना के हमले में हमास के चार कमांडर ढेर हुए हैं। हमास के सैन्य कमांडरों के मारे जाने का दावा मीडिया रिपोर्ट्स में किया जा रहा है। खबरों के अनुसार, इस्राइली सेना ने उत्तरी गाजा ब्रिगेड कमांडर अहमद अल घनडॉर (Ahmad Al Ghandour) को भी मार गिराया है। हमास के कमांडरों के मारे जाने का दावा हमास की तरफ से जारी बयान में किया गया।

समाचार एजेंसी रॉयटर्स की रिपोर्ट के मुताबिक फलस्तीन और गाजा पट्टी पर दावा करने वाला सशस्त्र बल हमास ने रविवार को कहा, ‘गाजा पट्टी पर उसके चार मिलिट्री कमांडर मारे गए हैं। इसमें उत्तरी गाजा ब्रिगेड के कमांडर अहमद अल घनडॉर भी शामिल हैं।’ हमास का बयान युद्धविराम की घोषणा के तीसरे दिन सामने आया है। बता दें कि इस्राइल और हमास के बीच जारी हिंसक संघर्ष के 50वें दिन (24-25 नवंबर) युद्धविराम हुआ था। चार दिनों के युद्धविराम में बंधकों को रिहा करने पर सहमति बनी है। अब तक हमास ने दो समूहों में 26 इस्राइली बंधकों को वापस लौटाया है। बदले में इस्राइल ने 78 फलस्तीनी कैदियों को रिहा किया है।

उत्तरी ब्रिगेड के कमांडर की मौत पर अधिक चर्चा
गाजा में सैन्य कमांडरों के मारे जाने के संबंध में अंतरराष्ट्रीय मीडिया में आई खबरों के मुताबिक अल क़सम ब्रिगेड ने अपने टेलीग्राम चैनल पर बयान जारी किया। इसमें कहा गया “अल घनडॉर (अबू अनस) सैन्य परिषद का सदस्य और उत्तरी ब्रिगेड का कमांडर है। घनडॉर उसकी सैन्य परिषद का सदस्य था। मारे गए तीन कमांडरों में अयमान सियाम का नाम भी शामिल है। इस्राइली मीडिया रिपोर्ट के अनुसार सियाम ब्रिगेड की रॉकेट-फायरिंग इकाइयों का प्रमुख था।

अमेरिका ने घनडॉर को 2017 में वैश्विक आतंकी माना
इस्राइली सेना के साथ संघर्ष जारी रखने का संकेत देते हुए अल कसम ने कहा, हमास कमांडरों के दिखाए रास्ते पर चलता रहेगा। उनका खून मुजाहिदीन के लिए रोशनी और कब्जा करने का इरादा रखने वाले लोगों के लिए आग के समान काम करेगा। घनडॉर को अमेरिका ने 2017 में “विशेष रूप से नामित वैश्विक आतंकवादी” करार दिया था। नकेल कसने के मकसद से उसे आर्थिक प्रतिबंधों वाली ब्लैक लिस्ट में भी डाला गया था। अमेरिकी विदेश विभाग ने उन्हें हमास की शूरा परिषद का पूर्व सदस्य और उसके राजनीतिक ब्यूरो का सदस्य बताया। 

कई आतंकी घटनाओं में शामिल रहा है घनडॉर
खबरों के अनुसार, इस्राइली सेना के साथ जारी इस युद्ध के पहले भी घनडॉर “कई आतंकवादी अभियानों में शामिल रहा है।” केरेम शालोम सीमा पर (Kerem Shalom border crossing) इस्राइली सैन्य चौकी पर 2006 में हमला हुआ था। इसमें भी घनडॉर शामिल था। हमले में दो इस्राइली सैनिक मारे गए थे, जबकि चार घायल हुए थे। इस हमले के बाद इस्राइली सैनिक गिलाद शालित का अपहरण भी चर्चा में रहा था। गिलाद को 2011 में मुक्त किया गया था, जब इस्राइल ने 1,027 फिलिस्तीनी कैदियों को रिहा किया था।

13 हजार से अधिक लोगों की मौत
बता दें कि इस्राइल और हमास का हिंसक संघर्ष बीते सात अक्तूबर को शुरू हुआ था। इस लड़ाई में अब तक 13 हजार से अधिक लोग मारे जा चुके हैं। हमास के आतंकी हमलों के जवाब में इस्राइली डिफेंस फोर्स गाजा के आतंकी ठिकानों पर लगातार हमले कर रही है। हमास के कब्जे वाले गाजा में स्वास्थ्य मंत्रालय का दावा है कि अब तक 12 हजार से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। दूसरी तरफ इस्राइली पक्ष में 1200 लोगों की मौत हुई है।

Latest news

ना ही पक्ष ना ही विपक्ष, जनता के सवाल सबके समक्ष

spot_img
Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Translate »