32 C
Mumbai
Monday, April 22, 2024

आपका भरोसा ही, हमारी विश्वसनीयता !

RBI ने नहीं किया ब्याज दरों में कोई बदलाव, -7.3 फीसदी रियल जीडीपी रहने का अनुमान

रेपो रेट 4 फीसदी पर बरकार रखा है

नई दिल्ली: RBI ने नहीं किया ब्याज दरों में कोई बदलाव, रिजर्व बैंक की तरफ से आज तीसरी मॉनिटरी पॉलिसी की घोषणा की गई. रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के गवर्नर शक्तिकांत दास ने ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं करने का फैसला किया है. रेपो रेट 4 फीसदी पर बरकार रखा है. वहीं रिवर्स रेपो रेट 3.35 फीसदी पर बरकरार रखा गया है. बैंक रेट 4.25 फीसदी पर बरकार है.

निडर, निष्पक्ष, निर्भीक चुनिंदा खबरों को पढने के लिए यहाँ >> क्लिक <<करें

रियल जीडीपी -7.3 फीसदी

आरबीआई गवर्नर ने कहा, वित्त वर्ष 21 के लिए रियल जीडीपी -7.3 फीसदी पर रहेगा. उन्होंने कहा, अच्छे मॉनसून से इकोनॉमी में रिवाइवल संभव है. ग्रोथ वापस लाने के लिए पॉलिसी सपोर्ट बेहद अहम है. रिजर्व बैंक ने चालू वित्त वर्ष यानी 2021-22 के लिए ग्रोथ रेट का अनुमान घटा दिया है. RBI के मुताबिक चालू वित्त वर्ष में ग्रोथ रेट 9.5 फीसदी रहेगा. पहले रिजर्व बैंक ने 10.50 फीसदी का अनुमान जताया था. गवर्नर दास ने कहा कि जबतक कोविड का असर खत्म नहीं होता तब तक अकोमडेटिव नजरिया ही बरकरार रखा जाएगा. उन्होंने कहा कि ग्लोबल ट्रेंड सुधरने से एक्सपोर्ट में सुधार होगा.

महंगाई अहम चुनौती

ब्याज दरों में बदलाव नहीं करने को लेकर शक्तिकांत दास ने कहा कि लगातार बढ़ती महंगाई के कारण रिजर्व बैंक के मॉनिटरी पॉलिसी कमिटी ने पॉलिसी रेट में कोई बदलाव नहीं करने का फैसला किया है. MPC का मानना है कि चालू वित्त वर्ष में रिटेल महंगाई दर 5.1% रहेगी.

अधिक महत्वपूर्ण जानकारियों / खबरों के लिये यहाँ >>क्लिक<< करें

जून तिमाही में खुदरा महंगाई दर 5.2 फीसदी, सितंबर तिमाही में 5.4 फीसदी, दिसंबर तिमाही में 4.7 फीसदी और मार्च तिमाही में 5.3 फीसदी रहने का अनुमान लगाया है. रिजर्व बैंक ने रिटेल इंफ्लेशन का लक्ष्य 4 फीसदी रखा है. हालांकि +/-2 पर्सेंट का विंडो यानी अपर लिमिट 6 पर्सेंट और लोअर लिमिट 2 पर्सेंट रखा गया है.

गवर्नमेंट सिक्यॉरिटीज खरीदने का फैसला

एकबार फिर से रिजर्व बैंक ने गवर्नमेंट सिक्यॉरिटीज खरीदने का फैसला किया है. 17 जून को आरबीआई 40 हजार करोड़ का G-sec खरीदेगा. पहली तिमाही के लिए सेंट्रल बैंक ने 1 लाख करोड़ रुपए का गवर्नमेंट सिक्यॉरिटीज खरीदने का लक्ष्य रखा है. अब तक वह 60 हजार करोड़ का G-sec खरीद चुका है. दूसरी तिमाही यानी जुलाई-सितंबर के बीच सेंट्रल बैंक 1.20 लाख करोड़ का गवर्नमेंट सिक्यॉरिटीज खरीदेगा.

‘लोकल न्यूज’ प्लेटफॉर्म के माध्यम से ‘नागरिक पत्रकारिता’ का हिस्सा बनने के लिये यहाँ >>क्लिक<< करें

हॉस्पिटैलिटी सेक्टर के लिए 15000 करोड़ की घोषणा

हॉस्पिटैलिटी सेक्टर के लिए अलग से 15000 करोड़ की घोषणा की गई है. रिजर्व बैंक ने कहा कि उसका फॉरन रिजर्व 600 बिलियन डॉलर तक पहुंच सकता है.रिजर्व बैंक ने कहा कि उसका फॉरन एक्सचेंज रिजर्व 600 बिलियन डॉलर तक पहुंच सकता है. 28 मई को आरबीआई का विदेशी मुद्रा भंडार 2.865 अरब डॉलर बढ़कर 592.894 अरब डॉलर पर पहुंच गया जो अब तक ऑल टाइम हाई है.

Latest news

ना ही पक्ष ना ही विपक्ष, जनता के सवाल सबके समक्ष

spot_img
Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Translate »