30 C
Mumbai
Saturday, May 25, 2024

आपका भरोसा ही, हमारी विश्वसनीयता !

Xi Jinping: ‘भ्रष्टाचार से करीबियों को दूर रखें,’ शी की चेतावनी; ली कियांग ने भूकंप प्रभावित क्षेत्रों का किया दौरा

Xi Jinping: चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी (सीपीसी) के वरिष्ठ अधिकारियों को ईमानदारी बनाए रखने की चेतावनी दी है। जिनपिंग ने अधिकारियों से कहा कि वे रिश्तेदारों को भ्रष्टाचार से दूर रखने के लिए कड़े नियम तय करें और विदेशी उदाहरणों व लापरवाही से किए गए कामों का आंख मूंदकर अनुसरण करने से बचें। 

‘आत्म अनुशासन बनाकर पेश करें उदाहरण’
सीपीसी की शुक्रवार को एक महत्वपूर्ण बैठक हुई। इसमें शी ने कहा, सीपीसी की केंद्रीय समिति के राजनितिक ब्यूरो के सदस्यों को मार्क्सवादी मानकों के मुताबिक जरूरी कानूनों को खुद पर सख्ती से लागू करना चाहिए और पार्टी की अखंडता और आत्म-अनुशासन बनाए रखने में एक उदाहरण पेश करना चाहिए। 

‘रिश्तेदारों के लिए तय करें कड़े कानून’
उन्होंने आगे कहा, जब भ्रष्टाचार के खिलाफ प्रयासों की बात आती है तो उन्हें (सीपीसी के वरिष्ठ अधिकारी) अपने परिवार को सदस्यों, रिश्तेदारों और अपने आसपास के कर्मचारियों के लिए कड़े नियम तय करने चाहिए। शी पार्टी के संस्थापक माओत्से तुंग के बाद लगातार तीसरी बार सत्ता में बने रहने वाले एकमात्री चीनी नेता हैं। उन्हें माओत्से तुंग की तरह सत्ता में बने रहने के लिए जाना जाता है। शी राष्ट्रपति के अलावा सीपीसी और सेना के भी प्रमुख हैं। 

भ्रष्टाचार मामले में लाखों अधिकारियों को दी थी सजा
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, शी जिनपिंग 2012 में पार्टी का नेतृत्व संभालने के बाद से भ्रष्टाचार विरोधी अभियान जारी रखे हुए हैं। उन्होंने कई शीर्ष सैन्य जनरलों सहित दस लाख से अधिक अधिकारियों को भी दंडित था। हालांकि, भ्रष्टाचार विरोधी अभियानों में तेजी को लेकर उनकी आलोचना भी हुई। माना जाता है कि शी ने पार्टी और सरकार के भीतर अपने प्रतिद्वंद्वियों और आलोचकों को चुप कराने के लिए उन्होंने इन अभियानों का इस्तेमाल किया। 

सीसीडीआई ने दी कार्रवाई तेज करने की चेतावनी
सीपीसी की भ्रष्टाचार रोधी इकाई सेंट्रल कमीशन फॉर डिसिप्लिन इंस्पेक्शन (सीसीडीआई) ने चार दिसंबर को भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई तेज करने की चेतावनी दी थी और कहा था कि एक दशक पुरानी पाबंदियों के बावजूद हजारों कैडर और अफसरों के बीच यह (भ्रष्टाचार की) समस्या व्याप्त है। सीसीडीआई ने कहा कि भ्रष्टाचार का पता लगाना मुश्किल होता जा रहा है। इसने यह भी कहा था कि अगले साल फरवरी में मनाए जाने वाले वसंत त्योहार और चीनी नव वर्ष के दौरान असाधारण सरकारी खर्च पर कार्रवाई तेज करने की योजना है।

प्रधानमंत्री ली ने किया भूकंप प्रभावित प्रांतों का दौरा
उधर, चीन के प्रधानमंत्री ली कियांग ने उत्तर-पश्चिम चीन के भूकंप प्रभावित गांवों का दौरा किया। इसके बाद बचाव एवं राहत दलों से उन्होंने यह सुनिश्चित करने को कहा है कि भूकंप प्रभावित इलाकों के लोग सर्दियों में रहें। ली ने शनिवार को गांसू प्रांत के जिशिशन काउंटी के साथ-साथ किंघई प्रांत के मिन्हे काउंटी के कई गांवों का दौरा किया। इस इलाके में हाल ही में 6.2 तीव्रता का भूकंप आया था, जिसमें 148 लोगों की मौत हो गई थी और 781 लोग घायल हो गए थे। 

राहत और बचाव कर्मियों को दिया यह आदेश
यात्रा के दौरान ली ने आपदा से प्रभावित लोगों से बात की और पुनर्वास, राहत आपूर्ति और अस्थायी आवासों के निर्माण से संबंधित कार्यों के बारे में जानकारी ली। सरकारी समाचार एजेंसी शिन्हुआ की खबर के मुताबिक उन्होंने कहा कि राहत कर्मियों की शीर्ष प्राथमिकता यह सुनिश्चित करना है कि प्रभावित लोग सर्दियों में गर्म और सुरक्षित रहें। ली ने राहत कर्मियों से बस्तियों में पीड़ितों को राहत सामग्री और दैनिक जरूरतों की चीजें भेजने और टेंटों में रहने वालों के लिए जल्द से जल्द अस्थायी घरों का निर्माण करने का आग्रह किया।

उन्होंने कहा कि अगर जरूरत पड़ी तो भूकंप प्रभावित इलाकों में इमारतों की जांच की जानी चाहिए और उन्हें मजबूत किया जाना चाहिए ताकि निवासी वापस जा सकें और स्कूल एवं अस्पताल जैसी आवश्यक सुविधाएं फिर से खोली जा सकें। ली ने कहा कि स्थानीय लोगों को आपदा के कारण गरीबी में जाने से रोकने के लिए उनके जीवन स्तर में सुधार करने के लिए समन्वित तरीके से पुनर्निर्माण की योजना बनाई जानी चाहिए।

Latest news

ना ही पक्ष ना ही विपक्ष, जनता के सवाल सबके समक्ष

spot_img
Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Translate »