32 C
Mumbai
Monday, April 22, 2024

आपका भरोसा ही, हमारी विश्वसनीयता !

‘भारत के खिलाफ जी20 सम्मेलन के आयोजन पर पश्चिमी मीडिया में भरी है नकारात्मकता’, रूसी मीडिया ने दिया जवाब

दिल्ली में जी20 शिखर सम्मेलन का आयोजन किया गया। आज से शुरू हुए इस सम्मेलन में देश-विदेश के कई बड़े नेताओं ने हिस्सा लिया। जी20 सम्मेलन की शानदार तैयारियों को लेकर भारत की चर्चा विदेशी मीडिया में भी हो ही है। हालांकि, इस बीच रूस के एक सरकारी ब्रॉडकास्टर ने भारत के लिए गलत एजेंडे को लेकर पश्चिमी मीडिया को फटकार लगा दी। इतना ही नहीं रूसी मीडिया ग्रुप ने कहा कि पश्चिमी मीडिया ने अपने कवरेज को नकारात्मक कहानियों तक ही सीमित रखा है। 

दरअसल, हाल ही में वॉशिंगटन पोस्ट ने कुछ ऐसी खबरें भी प्रकाशित की थी, जिसमें जी20 के लिए  राजधानी दिल्ली की सुंदरता को बढ़ाने के लिए कई इलाकों के झुग्गियों को गिराने को मुद्दा उठाया गया था। हालांकि, इस पर रूस का सरकारी ब्रॉडकास्टर रशिया टीवी (आरटी) ने पश्चिमी मीडिया की क्लास लगाई है। 

आरटी ने लगाई पश्चिमी मीडिया को लताड़
पश्चिमी मीडिया ने जी20 शिखर सम्मेलन के लिए भारत द्वारा किए गए आयोजनों को केवल नकारात्मक तरीकों से दिखाया है। जिस पर रूस की सरकारी ब्रॉडकास्टर रशिया टीवी (आरटी) ने पश्चिमी मीडिया को लताड़ते हुए लिखा, ‘पश्चिमी मीडिया केवल भारत के गरीबों और वंचितों पर ही रिपोर्ट तैयार की है। उन्होंने यह दिखाया कि जी20 के आयोजन से पहले गरिबों की बस्तियों को हटाने के लिए सौंदर्यीकरण अभियान चलाया गया। इससे यह साफ पता चलता है कि गैर पश्चिमी देशों के बारे में कुछ भी लिखना कितना आसान है। उन्होंने अपनी कवरेज को केवल नकारात्मक कहानियों तक ही सीमित रखा।’ 

आरटी ने आगे लिखा, ‘इस साल भारत की 20 राज्यों और आठ केंद्र शासित प्रदेशों के 60 शहरों में जी-20 की 220 बैठकें हो चुकी है, जिसे भारत ने काफी अच्छे तरीके से पूरा किया। इस आयोजन में कुछ खामियां भी थी, जो कि अधिकांश बैठकों में होता है। दिल्ली में आयोजित जी20 सम्मेलन में बड़े समूहों ने हिस्सा लिया है। सभी ने आरत के आयोजन की तारीफ की है। यहां तक की विपक्षी दल आम आदमी पार्टी ने भी इस आयोजन पर केंद्र की तारीफ की है।’ 

आरटी ने पश्चिमी मीडिया पर लगाया आरोप
पश्चिमी मीडिया पर निशाना साधते हुए आरटी ने कहा कि वह (पश्चिमी मीडिया) ग्लोबल साउथ देशों को परिचित अजनबियों की देखता है। रूसी मीडिया ने लिखा, ‘पश्चिमी अमीर देशों में भी कई गरीब रहते हैं। जिस तरह से भारत में अमीरी के बीच गरीब रहते हैं, ठीक उसी तरह अमेरिका के सिलिकन वैली में लोगों के पास रहने के लिए घर नहीं हैं। अमेरिका के बड़े शहरों में ड्रग्स की भी समस्या है, जिससे जुड़े वीडियो हमेशा सामने आते रहते हैं। वहीं यूरोप में अधिकांश बेरोजगारी से जूझ रहे हैं।’ 

रूसी मीडिया ने की पीएम मोदी की तारीफ 
अमेरिकी मीडिया के अनुसार पीएम मोदी ने जी20 को अपने रिब्रांडिंग के लिए इस्तेमाल किया है। इसपर रूसी मीडिया आरटी ने कहा कि जी20 में विश्व स्तरीय नेताओं की मेजबानी करते हुए भारत विश्व शक्ति के रूप में उभरा है। पीएम मोदी ही वह इंसान जो देश को यहां तक लेकर आए हैं। 

रशिया न्यूज की प्रधान संपादक एकातेरिना नाडोल्स्काया ने कहा, ‘भारत और रूस के बीच संबंध बहुत अच्छे हैं और आगे भी रहेंगे। जी20 शिखर सम्मेलन में पुतिन शामिल हो रहे हो या लेवरोव, यह अहम नहीं है। रूस का स्थान महत्वपूर्ण है। हम एक नया ऑर्डर बना रहे हैं।’ 

उन्होंने आगे कहा कि दुनिया भर में कई ऐसे नेता हैं जो खुद को दूसरे नेताओं के सामने अच्छे ढंग से प्रदर्शित करने के लिए ऐसे आयोजनों का इस्तेमाल करते हैं। वहीं भारत साल 2000 से ही एक ही अभियान चलाता आ रहा है और वह है- अतुल्य भारत। 

Latest news

ना ही पक्ष ना ही विपक्ष, जनता के सवाल सबके समक्ष

spot_img
Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Translate »