30 C
Mumbai
Wednesday, May 29, 2024

आपका भरोसा ही, हमारी विश्वसनीयता !

शासन प्रशासन की विफलता या नीयत में खोट मणिपुर की अमानवीय घटना : लक्ष्य

भारतीय समन्वय संगठन (लक्ष्य) के सैकड़ो कमांडरों ने मणिपुर में आदिवासियों पर हो रही अमानवीय घटनाओं को लेकर एक आक्रोश प्रदर्शन रैली का आयोजन लखनऊ के आशियाना में किया जो लक्ष्य के जिला कार्यालय से चलकर आशियाना पुलिस चौकी से बांग्ला बाजार होते हुए जिला कार्यालय पर समाप्त हुई जिसका नेतृत्व लक्ष्य की महिला कमांडरों ने किया |

लक्ष्य कमांडरों ने जलती हुई मोमबत्तियों के साथ मणिपुर के शासन प्रशासन के खिलाफ जोरदार नारे लगाकर अपना रोष व्यक्त किया। लक्ष्य कमांडरों ने कहा कि मणिपुर में आदिवासियों के साथ अमानवीय व्यवहार किया जा रहा है उनकी सरेआम हत्याएं की जा रही हैं, उनकी बहन बेटियों को नग्न करके सरेआम घुमाया जा रहा है, उनकी इज्जत लूटी जा रही है, यह कत्लेआम का तांडव पिछले लगभग 80 दिनों से चल रहा है । इस घटना ने मानवता को तार तार कर दिया है ऐसा लग ही नहीं रहा है कि देश में संविधान नाम की कोई चीज़ है भी, दबंगो को किसी भी प्रकार का कोई भय नहीं दिखाई दे रहा है और सरकारों की चुप्पी और भी दुखदाई है। ऐसा लगता है कि जैसे यह सब कुछ सुनियोंजित हो |

इस अमानवीय घटना ने देश की महिलाओं व बहुजन समाज के लोगों में भय उत्पन्न कर दिया है वे अपने को असुरक्षित महसूस कर रहे हैं तथा उनमे रोष व्याप्त है । लक्ष्य कमांडरों ने कहा कि यह देश के इतिहास में एक काला अध्याय है जिसने देश की एकता अखंडता को कलंकित किया है और विश्व स्तर पर भारत देश के नाम को बदनाम किया है, इसके दूरगामी दुष्परिणाम होंगे |

Latest news

ना ही पक्ष ना ही विपक्ष, जनता के सवाल सबके समक्ष

spot_img
Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Translate »